दूध में तुलसी के पत्ते उबालकर कर पीने से दूर हो जाते है ये 5 रोग, जानिये सेवन की विधि

0
13

तुलसी की पत्तियों में अधिक औषधीय गुण पाए जाते है यदि हम रोज़ाना दूध में तुलसी की पत्तियों को उबालकर इसका सेवन करे तो इससे हम बहुत से रोगों से स्वयं को बचा सकते है। इसमें हम आपको दूध के साथ तुलसी का सेवन करने के ऐसे 5 दुर्लभ फायदे के बारे में बताएंगे, जिन्हें जानकर आप सचमुच हैरान हो जयेंगे-

दमा के रोग के लिए फायदेमंद

दूध के साथ तुलसी की पत्तियों को उबालकर पीने से साँस सम्बन्धी सभी समस्याएं दूर रहती है। इसलिए ये दमा के रोगियों के लिए फायदेमन्द है।

माइग्रेन में लाभकारी

दूध और तुलसी की ये औषधि सर दर्द या माइग्रेन जैसी परेशानी में अन्यन्त लाभकारी होती है। नियमित रूप से इसका सेवन करने से यह समस्या जड़ से ठीक हो जाती है। आपको चाय की जगह इसको पिए। इससे काफी लाभ होगा।

तनाव और डिप्रेशन में राहत

तुलसी में हीलिंग प्रॉपर्टीज भी पाई जाती है। ऐसे में दूध के साथ तुलसी की पत्तियों को उबालकर पीने से मानसिक तनाव और चिंता भी दूर होती है। इसके सेवन से डिप्रेशन के समस्या से उभरने से सहायता मिलती है।

ह्रदय रोग एवं पथरी में लाभदायक

दूध एवं तुलसी का मिक्सरण का सेवन ह्रदय के लिए भी स्वास्थवर्धक होता है। इसको खली पेट पिने से हार्ट डिजीज में लाभ मिलता है। साथ ही ये दिल की बीमारियों से बचने के लिए बचाव भी करता है। सिर्फ इतना ही नही, यदि कोई व्यक्ति पथरी से ग्रस्त है तो नियमित रूप से खाली पेट इसका सेवन करने से किडनी की पथरी भी दूर हो जाती है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाये

तुलसी में एंटीऑक्सीडेंट पाये जाते है। ये हमारी शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायता करता है, जिससे ये शरीर में कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं से लड़ने शक्ति प्रदान करता है। साथ ही इसमें एंटीबैक्टीरियल एवं एंटीवायरल गुण भी पाया जाता है, जिससे सर्दी, खांसी और जुकाम आदि दूर रहता है।

सेवन की विधि

सबसे पहले 1 1/2 गिलास दूध को उबलने के लिए रख दें। जब ये उबालना शुरू हो जाये तब इसमें 8 से 10 तुलसी की पत्तियां तब तक उबले, जब तक एक गिलास न हो जाए। इसमें आप गुड़ का छोटा टुकड़ा भी डाल सकते है, जब यह हल्का गुनगुना हो जाए, तब आप इसका सेवन कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here